Nai Rahen Naye Irade


Price: [price_with_discount]
(as of [price_update_date] – Details)


[ad_1]

From the Publisher

Nai Rahen Naye Irade By Barack Obamas

Nai Rahen Naye Irade By Barack ObamasNai Rahen Naye Irade By Barack Obamas

सकारात्मक परिवर्तन की इसी ललक को मन में जाग्रत् करने के लिए प्रेरित करती है विचारोत्तेजक तथा दिशा-निर्धारक पुस्तक ‘नई राहें, नए इरादे’।

नई राहें, नए इरादे—बराक ओबामा आज पूरा विश्व एक परिवर्तन चाह रहा है। असफल नीतियों और पथभ्रष्ट राजनीति ने ऐसी भयावह स्थिति पैदा कर दी है, जिसमें हर ओर केवल भटकाव और उदासी फैली है।

ऐसे में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आशा की एक किरण दिखाई है। उनका विश्वास है कि दृढ़-निश्चय से ईमानदारी के साथ सबको साथ लेकर चलने की मंशा से हर विषम परिस्थिति का सामना किया जा सकता है और विकास के पथ पर आगे बढ़ा जा सकता है।

वे कहते हैं कि हमने कठिनाइयों और अपने हिस्से की असफलताओं का सामना किया; परंतु उनसे सीखा कि चुनौती चाहे जितनी भी बड़ी हो और हालात कितने भी बुरे हों, परिवर्तन हमेशा संभव है; यदि आप उसके लिए काम करने, संघर्ष करने और सबसे बढ़कर उसमें विश्वास रखने के लिए तैयार हैं। सकारात्मक परिवर्तन की इसी ललक को मन में जाग्रत् करने के लिए प्रेरित करती है विचारोत्तेजक तथा दिशा-निर्धारक पुस्तक ‘नई राहें, नए इरादे’।

विषय सूची

अमेरिका की आशा , हमारी अर्थव्यवस्था का पुनरुद्धार, मध्यवर्ग का सशक्तीकरण

तुरंत राहत पहुँचाने के लिए एक आपातकालीन आर्थिक योजनासभी अमेरिकी परिवारों को आर्थिक सुरक्षा एवं अवसर उपलब्ध करानासभी अमेरिकियों के लिए सस्ती स्वास्थ्य सेवाएँ

हमारी समृद्धि में निवेश

हमारे आर्थिक भविष्य का निर्माण करना

ऊर्जा में आत्मनिर्भरता का संवर्धन और 50 लाख हरित रोजगारों का सृजन करनाप्रत्येक अमेरिकी के लिए विश्व स्तरीय शिक्षाविज्ञान और प्रौद्योगिकी में अमेरिका को निर्विवाद रूप से अग्रणी बनाएँइक्कीसवीं सदी का आधार-तंत्र बनाएँगे

Recommended books

DENE KA ANAND

DENE KA ANAND

BACHCHE HAMARA BHAVISHYA

BACHCHE HAMARA BHAVISHYA

Asha Ka Savera by Barack Obamas

Asha Ka Savera by Barack Obamas

DENE KA ANAND by BILL CLINTON

प्रस्तुत पुस्तक ‘देने का आनंद’ बिल क्लिंटन का विश्‍व समुदाय के प्रति मानव-सेवा का आह्वान है। यह एक प्रेरणादायी पुस्तक है; जो विश्‍व में बदलाव लाने के लिए हर क्षेत्र के व्यक्‍ति को प्रेरणा देती है—चाहे वह विशिष्‍ट व्यक्‍ति हो या आम। सर्वप्रथम; इस पुस्तक में कंपनियों; संगठनों तथा व्यक्‍तियों द्वारा समस्याओं के समाधान और अपने आस-पास से लेकर समूचे विश्‍व तक लोगों का जीवन बचाने की दिशा में किए जा रहे असाधारण और नवीन प्रयासों की जानकारी दी गई है। इस पुस्तक में श्री क्लिंटन ने कुछ गंभीर एवं जटिल विषयों पर अपनी गहन व व्यापक दृष्‍टि डाली है। उन्होंने उस नन्ही लड़की की भूरि-भूरि प्रशंसा की है; जिसने ‘बीच’ से गंदगी; कूड़ा-करकट हटाया।

BACHCHE HAMARA BHAVISHYA by HILLARY RODHAM CLINTON

‘बच्चे : हमारा भविष्य’ का यह सहज संदेश सदा की तरह आज भी प्रासंगिक है—इस अभियान में हम सब साथ हैं। जब तक हम अपनी चुनौतियों का सामना करते हैं और अपने बच्चों के मामले में कभी पस्त नहीं होते; हम ऐसे विश्व का निर्माण कर सकते हैं जहाँ न्याय; आशा और शांति आतंक व भय पैदा करनेवाली ताकतों पर भारी पड़ते हों। हम अपने बच्चों को एक बार फिर इस महान् सपने और इस वादे में साझेदार बना सकते हैं कि यदि आप कड़ी मेहनत करेंगे और नियमानुसार चलेंगे तो आप इस देश में अवश्य सफल होंगे। परंतु; काम बहुत बड़ा है और उसे पूरा करने के लिए गाँव के प्रत्येक सदस्य की जरूरत होगी।

Asha Ka Savera by Barack Obamas

बराक ओबामा का जन्म सन‍् 1961 में होनोलुलु में हुआ। बीस-बाईस वर्ष की आयु से ही उन्होंने स्वेच्छा से शिकागो के दक्षिणी भाग में गरीब और अभावग्रस्‍त्त समुदायों के बीच कार्य किया। बाद में उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के लॉ स्कूल में प्रवेश लिया और ‘हार्वर्ड लॉ रिव्यू’ के प्रथम अश्वेत य बने। सन‍् 1995 में उनकी संस्मरणात्‍मक पुस्तक ‘ड्रीम्स फ्रॉम माई फादर’ प्रकाशित हुई। सन‍् 1996 में शिकागो लौटने के बाद वह इलिनॉइस स्टेट की सीनेट हेतु चुने गए। सन‍् 2004 में बराक ओबामा ने डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन में अद‍्भुत व्याख्यान दिया और उस वर्षांत में वे अमेरिका की सीनेट के लिए चुन लिये गए। उनकी अन्य पुस्तक ‘दि ऑडेसिटी ऑफ होप’ (हिंदी में ‘आशा का सवेरा’) वर्ष 2006 में प्रकाशित होते ही अंतरराष्‍ट्रीय बेस्टसेलर बन गई। नवंबर 2008 में सीनेटर ओबामा अमेरिका के चौवालीसवें राष्‍ट्रपति चुने गए। वे अमेरिके के पहले अश्‍वेत राष्‍ट्रपति हैं। मिशेल उनकी पत्‍नी हैं और उनकी दो पुत्रियाँ—साशा एवं मालिया हैं।.

Click & Buy

Publisher ‏ : ‎ Prabhat Prakashan; 2009th edition (1 January 2016)
Language ‏ : ‎ Hindi
Hardcover ‏ : ‎ 240 pages
ISBN-10 ‏ : ‎ 817315726X
ISBN-13 ‏ : ‎ 978-8173157264
Reading age ‏ : ‎ 18 years and up
Item Weight ‏ : ‎ 360 g
Dimensions ‏ : ‎ 13.97 x 1.75 x 21.59 cm
Country of Origin ‏ : ‎ India
Packer ‏ : ‎ Kashiv Enterprises
Generic Name ‏ : ‎ Book

[ad_2]

error: Alert: Content selection is disabled!!